Infrastructure

While a lot has been researched about land issues and the land relations has been explored and continues to get explored by academicians, journalists and civil society actors, an in depth understanding of land acquisition processes and practices is needed. With changing land relations and developments surrounding land laws it is of immense importance to see how land acquisition is being performed in everyday affairs by land acquisition and revenue bureaucracy.

Publications

  • nishant
    January 28, 2020

    Consumed by Demand

    Despite that the operational metro projects are showing massive deficit from projected ridership estimates and the claimed environmental benefits are nowhere close to being realized, metro projects are already being pushed for another 30 cities.
    Continue reading
  • prcindia
    May 10, 2019

    लोकतंत्र और विकास का वर्तमान परिदृश्य

    आज झारखण्ड की सरकार देश और दुनिया के पूंजीपतियों के लिए “मोमेंटम झारखण्ड” का मेला लगाती है जहां झारखण्ड के संसाधानों की लूट के लिए बोली लगवाई जाती है। जो लोग इसके खिलाफ़ आवाज उठाते हैं उन्हें राष्ट्रद्रोही घोषित करके जेलों में बंद कर दिया जाता है। दूसरी ओर आदिवासियों के लिए सुरक्षा कवच बने कानूनों को भी पूंजीनिवेश के नाम पर पूंजीपतियों के हित में बदला जा रहा है।
    Continue reading

Events

Blogs

  • nishant
    December 7, 2020

    Seeds of Resistance and Hope: Some Post-webinar Reflections

    Seeds of Resistance and Hope – Reflections on an emerging global movement for food sovereignty through urban farming In a unique collaboration, People’s Resource Centre was able to bring together people of various countries associated with the act of urban farming either as practitioners or environmental activists and initiate a conversation about rethinking the ways…
    Continue reading
  • nishant
    December 2, 2020

    दिल्ली में शहरी खेती का सन्दर्भ

    शहर में खेती और उससे जुड़ी गतिविधियों का आधुनिक शहरी अवधारणा में कोई कानूनी और नीतिगत स्थान नहीं है। इसीलिए शहरीकरण के दौरान इसे बाहर करके कानूनन बंदिश लगा दी जाती है। दिल्ली में इस अवधारणा को मूर्त रूप देने के लिए दिल्ली विकास प्राधिकरण की स्थापना की गई है, जो यहां के गांव की…
    Continue reading